हर बीमारी में कारगर गुणकारी आंवला(indian gooseberry health benefits)

हर बीमारी में कारगर गुणकारी आंवला(Indian gooseberry health benefits)

  • Lifestyle हिन्दी
  • no comment
  • स्वास्थ्य
  • 3988 views
  • दादी-नानी के नुस्खों से लेकर पुराने नीम-हकीम और मौजूदा डॉक्टर, सभी आंवले की गुणवत्ता पर एकमत हैं। भले ही सबके ढंग अलग-अलग हों लेकिन बीमारियां दूर भगाने और शरीर को नीरोग रखने के लिए आंवले का सभी इस्तेमाल करते हैं। इसीलिए सभी बेहिचक कहते हैं कि आंवला बेहद गुणकारी है। इसलिए आंवले के उपभोग को हर मर्ज की दवा भी कहा गया है। यह एक ऐसा जायकेदार फल या कहें औषधि है जिसका इस्तेमाल पाचन तंत्र को दुरुस्त करने से लेकर स्मरण शक्ति को दुरुस्त करने के लिए होता है। आंवले का नियमित सेवन कमजोरी और बुढ़ापे को दूर भगाता है। डायबिटिज, बवासीर, दिल की बीमारी या शरीर में गर्मी होने जैसी समस्याओं का इलाज आंवले में है।

    आंवला के फायदे- Amla (Awla) Ke Fayde – Benefits of Amla in Hindi




    एक आंवले (Amla) में तीन संतरों के बराबर विटामिन-सी

    शरीर में विटामिन-सी की कमी को दूर करने के लिए आंवला बहुत गुणकारी है क्योंकि यह विटामिन-सी का बेहतरीन स्रोत है। माना जाता है कि एक आंवले में तीन संतरे के बराबर विटामिन-सी होती है। ऐसे में आंवले का सेवन स्कर्वी जैसे रोग को भगाता है।

    विषाक्त पदार्थ निकालने में मददगार, खून भी करता है साफ

    आंवले के नियमित सेवन से लीवर को ताकत मिलती है। इससे हमारे शरीर में विषाक्त पदार्थ आसानी से बाहर निकल जाते हैं। साथ ही, आंवला खाने से शरीर की रोगों से लडऩे की क्षमता भी मजबूत होती है। आवंले का जूस पीने से खून साफ होता है। इससे शरीर में चुस्ती और स्फूर्ति का संचार होता है।

    आंखों की बीमारियां भगाने की रामबाण औषधि

    आंखों की बीमारियां दूर करने के लिए आंवला बहुत ही ज्यादा उपयोगी है। आंवला खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है और बीमारियां भी दूर होती हैं। विटामिन-सी और मिनरल होने की वजह से आंवले के सेवन के कारण शरीर की त्वचा और बालों के लिए बहुत लाभ मिलता है। खाली पेट आंवले का मुरब्बा खाने से शरीर नीरोग रहता है।

    आंवला (Awla) खाएंगे तो पासी नहीं फटकेंगी ये बीमारियां

    डायबिटीज : डायबिटिज या मधुमेह के मरीजों के लिए आंवला बहुत लाभकारी होता है। हल्दी के चूर्ण के साथ आंवले का सेवन मधुमेह के मरीजों के लिए सलाह दी जाती है। इसके सेवन से मधुमेह रोगियों को जरूर फायदा होगा।




    पाइल्स : बवासीर या पाइल्स के मरीज सूखे आंवले को पीस कर सुबह-शाम गाय के दूध के साथ हर रोज सेवन करे। इससे बवासीर दूर करने में फायदा होगा।
    दिल को रखो नीरोग: आंवला खाने से इंसान का दिल यानि शरीर में खून की सप्लाई का तंत्र मजबूत होता है। दिल के मरीज अगर रोजाना दो-तीन आंवले का सेवन करें तो उनके दिल की बीमारी दूर होगी। आंवले का मुरब्बा खाना भी लाभकारी रहेगा।
    नकसीर : यदि किसी के नाक से खून निकले यानि नकसीर की दिक्कत हो तो सूखे आंवले को बारीक पीसकर बकरी के दूध में मिलाकर सिर और मस्तक पर लेप लगाना लाभकारी रहेगा। इस तरकीब से बहुत जल्द नाक से खून निकलना बंद हो जाएगा।
    खांसी और बलगम भगाए : खांसी और बलगम की शिकायत होने पर दिन में दो-तीन बार आंवले का मुरब्बा गाय के दूध के साथ खाएं। अगर बहुत ज्यादा खांसी है तो आंवले को शहद में मिलाकर खाने से खांसी और बलगम से राहत मिल जाती है।
    पेशाब में जलन : शरीर में गर्मी हो जाए और पेशाब करने में जलन हो तो हरे आंवले का रस शहद में मिलाकर पीएं। इससे तुरंत पेशाब की जलन समाप्त होगी और पेशाब का पीलापन भी दूर हो जाएगा।
    पथरी दूर करने में कारगर : पथरी की शिकायत है तो सूखे आंवले का चूर्ण मूली के रस में मिलाकर 40 दिन तक पीएं। बहुत अधिक संभावना है कि इससे पथरी समाप्त हो जाए।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *