विटामिन-सी : दांत, त्वचा और आंखों के लिए अहम(vitamin-c health benefits)

विटामिन-सी : दांत, त्वचा और आंखों के लिए अहम(Vitamin-C Health Benefits)

  • Lifestyle हिन्दी
  • no comment
  • लाइफ-स्टाइल
  • 4272 views
  • मानव शरीर के संपूर्ण विकास के लिए विटामिन्स (Vitamins) बहुत उपयोगी हैं। हालांकि, विटामिन-सी शरीर के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है। विटामिन्स जहां शरीर के भीतरी स्वास्थ्य को दुरुस्त करते हैं, वहीं शरीर के बाहरी स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदा होता है। इन विटामिन्स में भी मानव शरीर के सामान्य विकास के लिए विटामिन-सी (Vitamin-C) बहुत आवश्यक है। विटामिन-सी शरीर की विभिन्न रासनायिक क्रियाओं को करने में अहम रोल अदा करता है। यह शरीर की तंत्रिकाओं तक संदेश पहुंचाने या फिर ऊर्जा को प्रवाहित करने का कार्य करता है। विटामिन-सी त्वचा की झुरियां भगाने, दांत, मसूड़ों को तंदरुस्त रखने और आंखों की रोशनी बनाए रखने के लिए बहुतम जरूरी है। विटामिन-सी एक एस्कॉर्बिक एसिड है जो सभी सिट्रस फलों में पाया जाता है। विटामिन-सी (Vitamin-C) के अहम स्रोत निंबू, संतरा, अमरूद, मौसम्मी आदि में पाया जाता है।

    मानव शरीर के लिए क्यों जरूरी है विटामिन-सी (Vitamin-C)




    विटामिन-सी (Vitamin-C) शरीर के सेल (body cells) को एक साथ रखता है। यह शरीर के विभिन्न अंगों का आकार बनाने में भी मदद मिलती है। साथ ही, यह शरीर की खून की नसों (ब्लड वेसल्स – Blood vessels) को मजबूत बनाता है। विटामिन-सी (Vitamin-C) शरीर की सबसे छोटी इकाई यानि सेल, अंगों और ब्लड बनाने में अहम रोल अगा करता है।
    एक और अहम बात यह कि विटामिन-सी (Vitamin-C) के एंटीहिस्टामीन गुण के कारण यह सर्दी-जुकाम ठीक करने में दवा का काम करता है।

    विटामिन-सी के मुख्य स्रोत – Main sources of Vitamin-C in hindi

    सबसे पहले तो विटामिन-सी (Vitamin-C) मुख्य तौर पर खट्टे रसदार फल जैसे नींबू, संतरा, आंवला, नारंगी, बेर, कटहल, शलगम, पुदीना, अंगूर, टमाटर, अमरूद, सेब, केला, मूली के पत्ते, दूध, चुकंदर, चौलाई, बंदगोभी, हरा धनिया, और पालक में पाया जाता है। दालें भी विटामिन-सी का अच्छा स्रोत हैं।

    विटामिन-सी के फायदे – Vitamin-C Ke fayde – Vitamin-C Health Benefits Hindi

    उच्चरक्त चाप (हाई ब्लड प्रेशर) में फायदेमंद (High Blood pressure)

    उच्च रक्त चाप या हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए विटामिन-सी बहुत लाभकारी है। ऐसे लोगों को अपने आहार में रोजाना विटामिन-सी को शामिल करना चाहिए।

    मजबूत दांत और स्वस्थ मसूड़े (Healthy Teeth)

    विटामिन-सी (Vitamin-C) की कमी से मसूड़ों से खून बहना, दांत का दर्द और दांत-मसूड़ों का ढीला होने जैसे रोग हो सकते हैं। इसलिये रोजाना अपने आहार में विटामिन-सी को शामिल करना चाहिए।

    झुरियों की रोकथाम

    विटामिन-सी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट शरीर में मौजूद फ्री-रेडिकल्स से लड़ता है। फ्री-रेडिकल्स से त्वचा पर जल्दी झुर्रियां पड़ती हैं और शरीर के अंगों को भी नुकसान पहुंचना शुरू हो जाता है। ऐसे में विटामिन-सी युक्त फल जरूर खाएं।




    कैंसर की रोकथाम

    विटामिन-सी (Vitamin-C) शरीर के किसी भी तरह के कैंसर को पैदा होने से रोकने का कार्य करता है। यह शरीर में एंटीबॉडी बनाकर रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है।

    सर्दी-जुकाम को रोकता है

    खट्टा होने के कारण कई लोग मानते हैं कि यह सर्दी-जुकाम को औरज्यादा बढ़ा सकता है। हालांकि, कई कई रिसर्च यह दावा करती हैं कि सामान्य सर्दी-जुखाम में भी विटामिन-सी (Vitamin-C) फायदेमंद होता है।

    शारीरिक संरचना में योगदान

    विटामिन-सी शरीर के अंदर की हर कोशिका को बनाने में अहम रोल अदा करता है। जिन लोगों के अंदर विटामिन-सी की कमी होती है, उनकी हड्डियां कमजोर और त्वचा ढीली हो जाती है।

    विटीमिन-सी नींद के लिए भी जिम्मेवार

    विटामिन-सी (Vitamin-C) मानव शरीर में सेरटोनिन नामक एक रसायन बनाने में अहम योगदान करता है। यह सेरटोनिन नामक रसायन मानव शरीर की नींद के लिए जिम्मेवार है। ऐसे में समयक नींद के लिए भी विटामिन-सी जरूरी है। इसके अलावा विटामिन-सी शरीर को सांस, पाचन ,मोतियाबिंद, चर्मरोग, आंखों के रोग ग्लूकोमा और कोलेस्ट्रोल को काबू रखने में भी कारगर है।




    विटामिन-सी के अभाव के लक्षण

    विटामिन-सी (Vitamin-C) की कमी होने पर मसूड़ों से खून बहना, दांत दर्द, दांतों का ढीला होना या निकल तक सकते हैं। चोट लगने पर त्वचा से अधिक खून बहना, घाव जल्दी न भरना और भूख कम लगने जैसे रोग हो सकते हैं। विटामिन-सी की बहुत अधिक कमी से स्कर्वी रोग (Scurvy) हो सकता है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *