त्वचा रोग: चर्म रोग के प्रकार और कारण (twacha rog – skin diseases)

त्वचा रोग: चर्म रोग के प्रकार और कारण (Twacha Rog – Skin Diseases)

  • Lifestyle हिन्दी
  • 2 comment
  • स्वास्थ्य
  • 90982 views
  • त्वचा शरीर का सबसे बड़ा और जरुरी तंत्र है क्योंकिं यह सीधे बाहरी वातावरण के सम्पर्क में होता है। हमें शरीर में विभिन आंतरिक रोगों की तरह त्वचा के भी अनेक रोग है! हमारी शरीर की त्वचा या चमड़ी में अलग-अलग परत होती है जो बाहरी नुकसान से इसकी रक्षा करती है! इस प्रकार के रोग पुरे शरीर के किसी भी भाग में हो सकते हैं! इसके अनेक कारण हो सकते हैं परन्तु देखा गया है के त्वचा के या चर्म रोग के मुख्य कारण अनियमित आहार, शरीर की सफाई न रखना, कब्ज या अन्य किसी एलर्जिक प्रक्रिया आदि हो सकते हैं! कुछ लोगो को मौसम के बदलते ही या अधिक गर्मी या बरसात के समय भी चर्म रोगों का सामना करना पड़ता है जिसमे घमोनिया, दाद आदि प्रमुख है! ये रोग अनेक प्रकार के हैं और इनमे से कुछ संक्रमित भी होते हैं! लेकिन हमने ये ध्यान रखना चाहिए के कुछ त्वचा संबधी रोग जन्म जात भी हो सकते हैं!




    चर्म रोग या त्वचा रोग के मुख्य प्रकार – Types of Skin Diseases in Hindi

    घमौरी: मुख्य रूप से अधिक गर्मी या बरसात के मौसम में हो सकता है! इसमें व्यक्ति के शरीर पर लाल रंग के छोटे-छोटे दाने निकलने लगते हैं और खारिश के साथ ये बढ़ते हैं!

    दाद: यह रोग भी शरीर की सही सफाई न होने या कोई भाग अधिक पानी में रहने के कारण हो सकता है! यह रोग संक्रमिक है इसीलिए आपसे दूसरे व्यक्ति को हो सकता है! यह रोग आपने सिर, हथेली, एड़ियों, कमर, दाढ़ी या किसी अन्य भाग में हो सकता है तथा इसके आपके शरीर में पीड़ित हिस्से में कोई छल्ला या गोल सा निशान चारों और बन जाता है!

    एक्जिमा: इसमें रोग से पीड़ित भाग पर पर छोटे-छोटे दाने होते है जो धीरे धीरे लाल हो जाते हैं! इसका इलाज समय पे करवाना चाहिए क्यूंकि ये बहुत कष्टदायक हो सकता है! इसे हिंदी में उकवत भी कहते हैं!




    सफेद दाग: यह भी 1 प्रकार का चर्म रोग है! इसके कारण पीड़ित के शरीर के अलग अलग भागों पर सफ़ेद दाग आ जाते हैं! इसे ल्यूकोडरमा (Lucoderma) कहते हैं और देखा गया है बहुत से लोग इसे कोढ़ समझ बैठते है, जबकि ऐसा नहीं है!

    एलर्जी: इसमें शरीर पर छोटे छोटे दाने निकल जाते हैं! मुख्य रूप से या उन व्यक्तियों के शरीर में हो सकता है जिनका इम्यून सीटें कमजोर हो! इससे अन्य रोग भी हो सकते है!

    खुजली: यह शरीर के अलग अलग भागों में हो सकती है! ये समय के साथ बढ़ती है और इसके कीटाणु अत्यन्त सूक्ष्म होते हैं! खुजली/खाज भी एक प्रकार का संक्रामक रोग है!

    छाल रोग (सारिआसिस):
    इसमें त्वचा पर लाल और खुरदरे निशान पड़ जाते हैं, शरीर पर घाव पड़ने लगते है क्योंकि ऊपरी त्वचा के भाग जल्दी संक्रमण के कारण झड़ने लगते है! ये रोग वंशानुगत भी हो सकता है!

    त्वचा रोगों – चर्म रोग के मुख्य कारण – Twacha rog ke karan in Hindi

    1. जन्मजात कारण या अनुवांशिक रोग
    2. पाचन तंत्र का संतुलित न होना विशेष कर के अधिक कब्ज रहने के कारण
    3. रक्त विकार या रक्त की अशुद्धि और आपका इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कारण
    4. शरीर को साफ़ सुथरा न रखने के कारण या शरीर के भाग का गंदे पानी या अन्य ऐसे पदार्थ के संपर्क से
    5. संक्रमण द्वारा यानि किसी रोगी व्यक्ति के संपर्क में आने से या उनका सामान या कपडे प्रयोग करने से
    6. त्वचा की किसी पुरानी चोट या अधिक रासायनिक पदार्थो के संपर्क से

    आने वाले ब्लॉग में हम त्वचा या चर्म रोग से बचने के कुछ आसान घरेलू उपाय भी बताएँगे! हमें चाहिए के अगर इस तरह के लक्षण काफी समय से हो तो किसी अछे स्किन स्पेशलिस्ट को दिखाएँ!

    2 thoughts on “त्वचा रोग: चर्म रोग के प्रकार और कारण (Twacha Rog – Skin Diseases)”

    1. Mere chere par kuch pimpal jese rog huaa hai! Or wo pinful bhi hai, or us ki wajah se mere chere par kabhi kale dhabe bhi ban gaya hai, docter ko bataya kuch din sahi huaa par us ke bad phir ho gaya…

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *