सबके पसंदीदा राजमा- पौष्टिकता से भरपूर (kidney beans)

सबके पसंदीदा राजमा- पौष्टिकता से भरपूर (Kidney Beans)

  • Lifestyle हिन्दी
  • no comment
  • लाइफ-स्टाइल, स्वास्थ्य
  • 196 views
  • देश भर खासकर उत्तर भारत में बच्चे हो या बड़े-बूढ़े सभी को राजमा चावल (Rajma Chawal) बहुत पंसद होते हैं। किसी भी मौसम में लोग बहुत ही चाव के साथ राजमा खाना पंसद करते है। हालांकि सर्दियों में राजमा खाना ज्यादा सही माना जाता है। वहीं बहुत कम लोग जानते हैं कि राजमा स्वाद के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फांयदेमंद होते हैं। इसका सेवन करने से हमारे शरीर को प्रोटीन, एनर्जी, कार्बोहाइड्रेट, फैट, मैग्नीशियम, आयरन, फास्फोरस और विटामिन बी समेत अन्य खनिज भरपूर मात्रा में मिलता है। प्रोटीन की अधिकता होने से बढ़ती उम्र के बच्चों लिए राजमा बहुत ही फायदेमंद दाल है। इसलिए राजमा को युवाओं की डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए क्योंकि इसमें उनके लिए जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। राजमा में उच्च मात्रा में आयरन होता है जो शरीर में ब्लड सर्कुलेशन (Blood Circulation) बढ़ाने और इस तरह शरीर में ऑक्सीजन के संचार को बढ़ाने का काम करता है।




    राजमा मसाला बनाने की विधि – Rajma Masala

    प्याज, लहसुन का करें इस्तेमाल, मसालों से करें गुरेज

    राजमा को हरे मसाले जैसे प्याज, लहसुन, अदरक और हरे धनिये का तड़का लगाना चाहिए। मसालों में जीरा, धनिया और गर्म मसाले का इस्तेमाल करें और ज्यादा मसाले डालने से बचें। अच्छी ग्रेवी के साथ राजमा बनाने की यही विधि सबसे ज्यादा स्वादिष्ट और पोष्टिक है। इसे चावल के साथ खाएं।

    राजमा खाने के कुछ फायदे – Benefits of Kidney Beans

    हाइपरटेंशन रोके राजमा का सेवन

    राजमा चावल (Rajma Chawal) का जायका दिल और जीभ दोनों के लिए एक बेहतरीन खुराक है। राजमा का जायका जहां मूड को दुरुस्त करता है, इसमें मौजूद पोषक तत्व दिल के लिए बहुत लाभदायक है। इसमें पोटाशियम, मैग्नीशियम, फाइबर और प्रोटीन भरपूर मात्रा में होने की वजह से रक्त वाहिकाओं में अच्छे से मिल जाते हैं जिससे ब्लड फ्लो अच्छे से चलता रहता है। इस तरह यह हाइपरटेंशन को रोकता है।

    वजन घटाने में मददगार

    राजमा खाने से शरीर में ऊर्जा बनी रहती है और फाइबर कि मात्रा ज्यादा होने कि वजह से पेट जल्दी भर जाता है। और काफी समय तक भूख भी नहीं लगती है। राजमा में लो फैट भी होता है। इस प्रकार यह वजऩ घटाने में काफी मददगार होता है।




    मजबूत करे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली

    राजमा में सिर्फ फाइबर और प्रोटीन ही नहीं बल्कि काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स भी होता हैं। ये एंटीऑक्सीडेंट्स इम्यून सिस्टम को बढ़ाता हैं। एंटीऑक्सीडेंट्स में एंटी-एजिंग तत्व भी पाए जाते हैं।

    माइग्रेन (Migraine) की समस्या को दूर करने में मददगार

    राजमा में मौजूद फोलेट और मैग्नीशियम न केवल दिमागी क्षमता को बढ़ाता है,बल्कि माइग्रेन जैसी समस्या को ठीक करता है। इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं, जो फ्री रेडिकल प्रतिरोधक क्षमता में भी इजाफा करते हैं।

    कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और ब्लड शुगर की मात्रा को सही रखे

    राजमा में मौजूद घुलनशील फाइबर शरीर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा को कम करता हैं। इसमें प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। राजमा ब्लड शुगर लेवल को भी नियंत्रित करता हैं। राजमा में सोयाबीन से भी ज्यादा प्रोटीन होता है। इसके अलावा यह मैग्नीशियम, कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस, विटामिन बी9, आयरन एवं अन्य जरूरी पोषक तत्वों से भी भरपूर है।

    कैलोरी की प्राप्ति

    यह कैलोरी से भरपूर है। जो लोग अपने वजन को कम करना चाहते हैं, वो राजमा का सेवन लंच में सलाद और सूप के रूप में भी कर सकते हैं।

    नर्वस सिस्टम (Nervous System), अल्जाइमर जैसी बीमारी दूर करें

    यह दिमाग और सेंट्रल नर्वस सिस्टम के लिए भी फायदेमंद है। राजमा में मौजूद थियामिन दिमाग की क्षमता बढ़ाने के साथ ही अल्जाइमर जैसी बीमारी को दूर करने में भी मददगार इत्यादि।

    शरीर को ऊर्जा दे और हड्डियों को मजबूत बनाएं

    राजमा खाने से हड्डियों को कैल्शियम और मैगज़ीन सबसे ज्यादा मिलता है। यह हमारी हड्डियों को ताकतवर बनाता है और इसमें आयरन की भरपूर मात्रा होने के कारण शरीर को एनर्जी भी देता है।

    कम करें कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol)

    राजमा में काफी मात्रा में फाइबर होने की वजह से कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है। इसमें मौजूद सोल्यूबल फाइबर पेट में जाने पर जेल बन कर कोलेस्ट्रॉल को बाइंड कर लेता है और सिस्टम में उसके अवशोषण को रोकता है। जिससे कि ब्लड कोलेस्ट्रॉल लेवल कम हो जाता है।

    शरीर की सफाई

    राजमा में मॉलिब्डेनम होता है जो हमारे शरीर की सारी गंदगी बाहर निकल देता है। साथ ही यह एलर्जी की समस्या को दूर करता है।

    डायबिटीज से बचाव

    राजमा में कम मात्रा में ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है। डाइबिटीज़ के मरीज़ों द्वारा इसे खाने से ब्लड ग्लूकोज लेवल नहीं बढ़ता। साथ ही, राजमा में अच्छी क्वालिटी का कार्बोहाइड्रेट और लीन प्रोटीन पाया जाता है जो इसे बहुत हेल्दी बनाता है। ये लो फैट भी होता है। इंसुलिन स्तर को नियमित करने वाले दो एमिनो एसिड आर्जिनाइन और ल्यूसाइन जैसे तत्व पाए जाते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *