गुणकारी गाजर (carrot) खाने के अनगिनत फायदे

गुणकारी गाजर (Carrot) खाने के अनगिनत फायदे

  • Lifestyle हिन्दी
  • no comment
  • स्वास्थ्य
  • 10782 views
  • सर्दियों का मौसम की शुरू होते ही गाजर (Carrot) बाजार में मिलने लगती हैं। गाजर प्राकृतिक रूप में कच्ची खाने में ज्यादा लाभकारी है। गाजर के भीतर का पोला भाग अत्यधिक गर्म होता है। ऐसे में इस भाग का ज्यादा सेवन शरीर में पित्तदोष, वीर्यदोष और छाती में जलन हो सकती है। स्वाद में मीठी गाजर उष्ण वीर्य, गर्म, दस्त को रोकने वाली, खून को शुद्ध करने वाली, कफ निकालने वाली, वात दोष नाशक, षुष्टिवर्धक और दिमाग के लिए उपयोगी है। यह बवासीर, पेट के रोगों, सूजन, खासी, पथरी का नाश करती है।

    पोषक तत्वों की खान है गाजर




    गाजर (Gajar-Carrot) के गर्म बीज का गर्भवती महिलाओं को उपयोग नहीं करना चाहिए। कैल्शियम और केरोटिन की प्रचूर मात्रा होने के कारण छोटे बच्चों के लिए यह एक अच्छा आहार है । गाजर में आंतों के हानिकारक कीटाणुओं को नष्ट करने का अदभुत गुण है। इसमें विटामिन ‘ए’ भी काफी मात्रा में पाया जाता है। यह नेत्र रोग में बहुत ज्यादा लाभदायक है। इसमें लौह तत्व काफी मात्रा में पाया जाता है जो खून को शुद्ध करता है। गाजर को चबा-चबा कर खाने से दांत चमकीले, मजबूत और मसूड़े शक्तिशाली बनते हैं। अत्यधिक गाजर खाने से पेट में दर्द हो सकता है। ऐसा होने पर थोड़ा गुड़ खाना दर्द निवारक माना गया है।

    गाजर खाने के अनकों फायदे – Gajar Ke Fayde – Carrot Health Benefits Hindi

      • गाजर का रस पीने से दिमाग की कमजोरी दूर होती है।
      • दस्त होने पर गाजर का सूप पीना लाभकारी माना गया है।
      • मासिक-धर्म कम आना या समय पर न आए तो इसके लिए गाजर के पांच ग्राम बीजों का 20 ग्राम गुड़ के साथ काढ़ा बनाकर पीने से फायदा होता है।
      • गाजर को उबालकर घाव पर लगाने से लाभ होता है।
      • गाजर (Gajar-Carrot) को कदूकस करके या बारीक पीसकर उसमें थोड़ा नमक मिलाकर गर्म करके खाज पर रोज बांधने से आराम मिलता है।
      • गाजर के पत्तों पर दोनों ओर शुद्ध घी लगाकर उन्हें गर्म कर उसका रस निकालकर 2-3 बूंदें कान और नाक में डालने से आधे सिर का दर्द यानि माइग्रेन खत्म हो जाता है।
      • हिचकी आने पर गाजर के रस की 4-5 बूंदें नाक में डालने से लाभ होता है।
      • नेत्ररोग, आंखों का कमजोर होना, आंखों में तकलीफ होना आदि रोगों में कच्ची गाजर Gajar-Carrot) या उसके रस का सेवन करना आरामदायक होता है । गाजर के रस का उपयोग नियमित करने से चश्मे का नंबर घट सकता है।
      • पाचन में गड़बडी या अरुचि, मंदागनी, अपच आदि रोगों मे गाजर के रस में नमक, धनिया, जीरा, काली मिर्च, नींबू का रस डालकर पीने से या गाजर का सूप बनाकर लेने से फायदा मिलता है।
      • पेशाब की तकलीफ होने पर गाजर का रस (Gajar-Carrot Juice) पीना उपयोगी होता है। इससे रक्त शर्करा भी कम होता है। गाजर का हलवा खाने से पेशाब में कैल्शियम, फास्फोरस का आना बंद हो जाता है।



    • नकसीर फूटने पर ताजे गाजर का रस या उसकी लुगदी सिर पर लगाने से लाभ होता है।
    • जलने से होने वाले दाह में प्रभावित अंग पर बार-बार गाजर Gajar-Carrot) का रस लगाने से लाभ होता हैं।
    • प्रसव के समय स्त्री को अत्यंत कष्ट हो रहा हो तो गाजर के बीजों क ा काढ़ा गुड़ डालकर पीने से प्रसव जल्दी होता है।
    • आपको सेब ही नहीं बल्कि गाजर भी डॉक्टर से दूर रखती है। गाजर Gajar-Carrot) लाभदायक है क्योंकि इसमें बीटा कैरोटीन होता है। यह पुरूषों के लिए अच्छी होती है। विशेषज्ञों का कहना है कि पुरुषों को हफ्ते में दो दिन गाजर जरूर खाने से यह कई तरह की बीमारियों से लडऩे की शक्ति मिलती है।
    • गाजर पीलिया के लिए प्राकृतिक औषधि है। इसका सेवन ल्यूकेमिया और पेट के कैंसर में भी लाभदायक है।
    • गाजर Gajar-Carrot) शरीर में कोलेस्ट्राल लेवल को कम करती है। रात के डिनर के बाद एक गिलास गाजर का जूस पीने से कोलेस्ट्राल लेवल कम हो जाता है।
    • आंखों के लिए फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें बीटा केरोटीन होता है। जो लीवर में जाकर विटामिन ए में बदल कर रेटीना के अंदर ट्रासंफार्म होता है और फिर यह बैंगनी से दिखने वाले पिग्मेेंट में इतनी शक्ती होती है कि रतौंधी जैसा रोग आपको जकड़ नहीं पाता।
    • गाजर (Gajar-Carrot) खाने से दिल का रोग नहीं होगा। हृदय की कमजोरी या धडक़नें बढऩे पर गाजर को भूनकर खाना लाभकारी होता है।
    • मुंह से बदबू न आए और मसूड़ों में सडऩ न हो, इसके लिए गाजर खानी चाहिए।
    • गठिया रोग होने पर रोज गाजर खानी चाहिए। गाजर खाने से हड्डियां मजबूत होती हैं क्योंकि इमसें विटामिन सी होता है।
    • गाजर खाने से कैंसर जैसी बीमारी नहीं होती है। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। गाजर का जूस पीने से डायबिटीज जैसी बीमारी से बचा जा सकता है।
    • गाजर मे बहुत सारा फाइबर होता है। इसे नियमित खाने से पेट सही रहता है और कब्ज की शिकायत नहीं होती।
    • गाजर में पोटैशियम होता है जो कि ब्लड प्रेशर नियंत्रित कर शरीर को स्वस्थ्य बनाए रखता है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *