कोलेस्‍ट्रॉल के लक्षण और उपाय – cholesterol symptoms & remedies

कोलेस्‍ट्रॉल के लक्षण और उपाय – Cholesterol Symptoms & Remedies

  • Lifestyle हिन्दी
  • 5 comment
  • घरेलू नुस्खे
  • 46415 views
  • कोलेस्ट्रॉल (cholesterol ) का नाम सुनते ही हृदय गति बढ़ जाती है। रक्त में कोलेस्ट्रॉल बढऩे का सीधा मतलब है हृदय रोग होना। मतलब जीवन को खतरा। कोलेस्ट्रॉल आमतौर पर एक वंशानुगत रोग है। कोलेस्ट्रॉल एक मुलायम चिपचिपा पदार्थ होता है जो रक्त शिराओं एवं कोशिकाओं में पाया जाता है। शरीर में कोलेस्ट्रॉल की उपस्थिति एक सामान्य बात है। यह शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। 80 प्रतिशत कोलेस्ट्रॉल का निर्माण हमारे शरीर में लीवर करता है और बाकी 20 प्रतिशत हम भोजन से प्राप्त होता है। कोलेस्ट्रॉल का अपना रंग पीला होता है। अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल रक्तवाहिनियों (वीन्स और आर्टरी) में पहुंचाता है जिससे वह रक्तवाहिनियों में जमकर रक्तवाहिनियों को संकरा कर देता है। इस कारण दिल का दौरा पड़ सकता है।

    कोलेस्ट्रॉल से बचने के उपाय – Cholesterol ka Upchar – Home Remedies




    • कोलेस्‍ट्रॉल (cholesterol ) के लेवल को नियंत्रित करने के लिये रोजाना 40 से 60 मिनट तक व्‍यायाम करें। – भोजन ऐसा होना चाहिए जिसमें वसा बिल्‍कुल ना हो और शराब एवं स्‍मोकिंग न करें।
    • कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित करने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड (Omega 3 Fatty Acid) खाने की जरूरत होती है जो मछली से मिलता है। यह कोलेस्‍ट्रॉल को कम करती है और अच्‍छे कोलेस्‍ट्रॉल को बढ़ाने में मदद करता है। अगर आप वेजिटेरियन हैं तो पालक जरूर खाइये। नियमित रूप से पालक खाने से भी हार्ट अटैक से बचा जा सकता हैं।
    • शरीर में कोलेस्ट्रॉल (cholesterol ) की मात्रा सामान्य बनाए रखने के लिए सबसे जरूरी है कि भोजन में चरबी बढ़ाने वाली चीजों को कम करना। जैसे मक्खन, घी आदि का सेवन कम करें। इनकी जगह जैतून और सूरजमुखी का तेल प्रयोग करें।
    • मछली और समुद्री भोजन कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। रेशेदार , स्टार्चयुक्त खाद्य पदार्थों के अलावा फलों और सब्जियों का अधिक सेवन करें। आलू, अनाज, दालें आदि अधिक खाएं। एंटी आक्सीडेंट खाद्य पदार्थों जैसे विटामिन सी, विटामिन, जिंक, सेलेनियम युक्त पदार्थ भोजन में लें।

    कोलेस्ट्रॉल बढऩे के लक्षण – Cholesterol Ke Lakshan

    • पैदल चलने पर सांस फूलने लगे, उच्च रक्तचाप (High BP) , मधुमेह, पैरों में दर्द रहने लगे तो समझों कि कोलेस्ट्रॉल बढ़ गया है।
    • कोलेस्ट्रॉल (cholesterol ) कम करने के लिए नियमित रूप से व्यायाम, योगासन, प्राणायाम काफी सहायक हैं।
    • हरी और काली चाय कोलेस्ट्रॉल घटाने में मदद करती है। जो लोग ज्यादा चाय पीते हैं उनमें कोलेस्ट्रॉल भी कम होता है और स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्याएं भी कम होती हैं। उन लोगों को दिल के दौरे का खतरा 16-24 प्रतिशत कम हो सकता है।

    उच्च कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय – High cholesterol Kam karne ke Gharelu Upay

      • उच्च कोलेस्ट्रॉल (High cholesterol ) घटाने के लिए एक गिलास रेड वाइन लेना चाहिए। इसमें प्रोसाइन्डिंस नामक रसायन होता है जो स्वास्थ्यवर्धक है। यह डार्क चॉकलेट में भी पाया जाता है। आर्टरी-क्लॉगिंग एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम करते हैं और हार्ट के लिए हेल्दी एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ाते हैं।
      • स्ट्रॉबेरी, लाल अंगूर, संतरा, नींबू, ब्लूबेरीज, एवोकाडो, खुमानी, सेब, कीवी, अनार और रेशायुक्त भोजन लेने से वसा पर नियंत्रण होता ही है। साथ ही कोलेस्ट्रोल का स्तर भी कम होता है।
      • भोजन में अनाज और ओटमील और रेशायुक्त पदार्थों में अनाज, बींस, सलाद, सब्जियों का सेवन करें। इनमें रेशे के अलावा अन्य पोषक तत्व विटामिन और मिनरल भी मिलते हैं।
      • बढ़ता वजन दिल का सबसे बड़ा दुश्मन है। मोटापा दिल की बीमारियों को भी बढ़ाता है। ऐसे में वजन पर काबू रखना जरूरी है।



    • जीवन स्तर बेहतर हो तो दिल की बीमारी से बचा जा सकता है। तनावों को कम करें और दिल के रोग रोकने में मदद मिलेगी।
    • गाय के दूध से कोलोस्ट्रॉल (cholesterol ) नहीं बढ़ता है।
    • सुबह-शाम एलोवेरा और आंवला के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से लाभ होगा।
    • मुल्तानी मिट्टी को पूरे शरीर में लगा कर 20 मिनट बाद स्नान करें। इससे शरीर के भीतर मौजूद टॉक्सिन ढीले होकर शरीर से बाहर आ जाएगें और शरीर का तापमान ठीक रहेगा।
    • रोजाना एक गिलास दूध में तीन चुटकी हल्दी मिलाकर सुबह नाश्ते के एक घंटे बाद पीना चाहिए।
    • रोज खाली पेट या खाने के तीन घंटे बाद गीला कपड़ा पेट में लपेटने से चर्बी नहीं जमेगी और फिट महसूस करेंगे।
    • चोकरयुक्त आटे की रोटी खाएं क्योंकि इसमें मिनिरल्स और फाइबर की मात्रा ज्यादा रहती है।



    क्या करें और क्या न करें – Home Advice for High Cholesterol

    • भोजन के एक घंटे बाद गुनगुना या सादा पानी पिएं।
    • भोजन खत्म होने के बाद पांच मिनट शांति से बैठें। उसके बाद थोड़ा टहल लें।
    • खाने के बीच में पानी न पिएं। शांत भाव से खाना खांए।
    • प्रतिदिन मु_ी भर अंकुरित अनाज खाना आरंभ करें।
    • सोयाबीन का तेल, लहसुन और प्याज लेना उपयोगी होता है।
    • खमीर तथा सूरजमुखी के बीज इस रोग में लेना फायदेमंद हैं।
    • ईसबगोल आधा चम्मच, दिन में दो बार लेने से आराम मिलता है।
    • धनिया को पानी में डालकर उबालकर या चबा कर रस पीने से लाभ मिलता हंै।

    5 thoughts on “कोलेस्‍ट्रॉल के लक्षण और उपाय – Cholesterol Symptoms & Remedies”

    1. इन सब तरीको को निश्चित तोर पर आजमाना ही होगा या फिर इन सब तरीको में से कुछ कुछ तरीके अपनाये जाये तो भी फायदे मंद रहे की नहीं ।

      आगर हैम इन मेसे दो तीन या फिर चार से पञ्च तरीके आजमाए फिर कोई नुकशान हो सकता हे या नहीं ?

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *