स्वाद और पौष्टिकता का खजाना : ड्राईफ्रूट्स का राजा काजू (cashew)

स्वाद और पौष्टिकता का खजाना : ड्राईफ्रूट्स का राजा काजू (Cashew)

  • Lifestyle हिन्दी
  • no comment
  • घरेलू नुस्खे
  • 661 views
  • स्वाद और पौष्टिकता से भरपूर ड्राईफ्रूट्स का राजा काजू को माना जाता है। इसके पौष्टिकता और स्वाद ही है कि महंगे होने के बावजूद आप इसे नियमित रूप से खाते हैं। थकान को दूर करने और त्वचा की खूबसूरती बढ़ाने में सहायक काजू खून को पतला करता है जो हार्ट अटैक से बचाव में खास रोल अदा करता है। इस तरह सौ दवाइयां खाने के बजाय यदि आप काजू खाएंगे तो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद रहेगा।

    मिनरल और ऊर्जा से भरपूर काजू – Cashew Health Benefits Hindi




    काजू खाने से शरीर को उर्जा मिलती है। मैगनीशियम, पोटैशियम, कॉपर, आयरन, मैगनीज, जिंक और सीलियम से भरपूर काजू शरीर के मैगनीशियम, पोटैशियम, कॉपर, आयरन, मैगनीज, जिंक और सीलियम से भरपूर काजू शरीर के मेटाबॉलिज्म को ठीक करता है। वहीं दिल की बीमारी भी दूर रहती है। काजू का सूखे मेवे के रूप में प्रयोग होता है। काजू के लजीज स्वाद के कारण इससे अनेक तरह की मिठाइयां और व्यंजन भी तैयार किए जाते है। सब्जियों में खासकर मुगलई खाने में काजू डालकर उन्हें अधिक स्वादिष्ट बनाया जाता है।

    समुद्री क्षेत्रों की खास पैदावार काजू

    काजू (Kaju) के पेड़ अधिकतया समुद्र के तटीय क्षेत्रों में पाए जाते हैं। भारत में सबसे ज्यादा काजू तमिलनाडु, बंगाल, केरल और गोवा में पैदा होते हैं। कहा जाता है कि पांच सौ साल पहले पुर्तगाली जिन्होंने आजादी के बाद तक गोवा पर राज किया, काजू अमेरिका से लाए थे।

    शरीर में एनर्जी बनाए रखता है काजू – Cashew Benefits

    ऊर्जा का अेहतरीन स्रोत काजू (Kaju – Cashew) को खाने से सेहत को कोई नुकसान नहीं पहुंचता बल्कि लाभकारी है। हालांकि इसे ज्यादा मात्रा में नहीं खाना चाहिए। अगर आपका मूड बेवजह खराब रहता है तो 2-3 काजू खाने से आपको इस समस्या से आराम मिल सकता है।

    प्रोटीन का अच्छा स्रोत

    काजू में प्रोटीन की अधिक मात्रा से काजू खाना बाल और त्वचा को स्वस्थ और सुंदर रखने में उपयोगी है।

    कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल कर हार्ट अटैक से बचाए

    काजू (Kaju – Cashew) कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रख हार्ट अटैक से बचाव में अहम है। इसमें मौजूद प्रोटीन जल्दी पच जाती है। वहीं काजू आयरन का अच्छा स्रोत है, ऐसे में यह खून की कमी दूर करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

    त्वचा को बनाए चमकदार

    काजू खाने से त्वचा का ग्लो बेहतर होता है और रंगत भी निखरती है। सौंदर्य बढ़ाने के लिए अकसर ही घरेलू नुस्खों में इसका इस्तेमाल होता रहा है।

    याद्दाशत तेज करने में अहम रोल

    विटामिन-बी का खजाना काजू भूखे पेट खाकर शहद खाने से याद्दाश्त बढ़ती है। काजू (Kaju – Cashew) खाने से यूरिक एसिड बनना बंद हो जाता है और यह ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित करता है।

    हड्डियों को बनाए मजबूत

    काजू में मौजूद अधिक प्रोटीन हड्डियों को मजबूत बनाता है। काजू में मोनो सैचुरेटड फैट होता है जो दिल को स्वस्थ रखता है। वहीं दिल की बीमारियों के खतरे को कम करता है।



    पाचन शक्ति को करे दुरुस्त

    काजू में एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं जो शरीर की पाचन क्रिया को मजबूत बनाते हैं। वहीं वजन भी संतुलित रखता है।

    ऊर्जा से भरपूर काजू घटाए वजन

    पौष्टिकता से भरपूर काजू (Kaju – Cashew) कॉलेस्ट्रॉल, ब्लड शुगर, सिर दर्द और हाई बल्ड प्रेशर को नियंत्रित करने के साथ वजन घटाने में भी मददगार है। भले ही कम असरदार हो।

    बच्चों को जरूर दें आहार में काजू

    आम तौर पर काजू बच्चों को पसंदीदा ड्रायफ्रूट है। इसे बच्चों को इसे खाने के लिए जरूर दीजिए।

    काजू खाने के अन्य के फायदे

    • काजू (Kaju – Cashew) को पीसकर नमक मिलाकर पानी के साथ चटनी बनाकर सेवन करने से अजीर्ण और अफारा की समस्या दूर हो जाती है।
    • शारीरिक दुर्बलता दूर करने के लिए प्रोटीन से भरपूर काजू में किशमिश मिलाकर खाना उपयोगी है। इसी तरह काजू को ३० मिनट तक पानी में भिगोने के बाद पीसकर सेवन करने से शारीरिक निर्बलता दूर होती है।
    • काजू के तेल से शरीर की मालिश करने से रुखापन दूर होता है और त्वचा कोमल-मुलायम होती है।
    • काजू खाने से वीर्य वृद्धि होती है जिससे कामशक्ति बढ़ती है।
    • काजू शरीर में वसा की कमी को पूरा कर शरीर में शक्ति, स्फूर्ति और उत्साह विकसित होता है।
    • काजू (Kaju – Cashew) के नियमित सेवन से दांत मजबूत होते हैं और मसूड़े स्वस्थ रहते हैं। वहीं काजू में मौजूद मैगनीशियम हड्डियों को मजबूती देता है।
    • एनीमिया के रोगी को काजू का सेवन लाभकारी होता है। काजू खून की कमी को दूर कर एनीमिया दूर करता है।

    काजू खाने के कुछ नुकसान भी

    • अधिक मात्रा में काजू खाने से पेट दर्द और दस्त शुरू हो सकते हैं। दस्त के रोगी को काजू का सेवन करने से बचना चाहिए।
    • अधिक मात्रा में काजू के सेवन से नकसीर निकलने की संभावना बढ़ जाती है।
    • गर्मियों मेकाजू नहीं खाने चाहिए। इन दिनों काजू खाने से शरीर का तापमान बढ़ जाता है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *