अश्वगंधा – एक चमत्कारी औषधि ( ashwagandha benefits)
Image Source : Wikipedia

अश्वगंधा – एक चमत्कारी औषधि ( Ashwagandha Benefits)

  • Lifestyle हिन्दी
  • 1 comment
  • स्वास्थ्य
  • 79010 views
  • मानव शरीर की व्याधियों को दूर करने के लिए अश्वगंधा (Ashwagandha) एक चमत्कारी औषधि है। यह शरीर को कई तरह के लाभ देने, दिमाग और मन को स्वस्थ रखने में कारगर है। आयुर्वेद में अश्वकगंधा को विशेष स्थान दिया गया है। भारत के कई स्थानों पर भले ही इसे अलग-अलग नामों से जाना जाता हो लेकिन इसका उपयोग सभी जगह कई तरह के रोगों को ठीक करने में होता है। यही कारण है कि इसे कई जगह भारतीय गिनसेंग भी कहा जाता है। अश्वगंधा (Indian ginseng ) के पत्तों, टहनियों और जड़ों का इस्तेमाल कई तरह की दवाएं बनाने में किया जाता है। शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए कई बार शक्तिवर्धक दवाओं को बनाने में भी अश्वगंधा (Ashwagandha) का इस्तेमाल होता है। सही मात्रा में इसका सेवन कामुकता को बढ़ाकर यौवन प्रदान करता है। मौजूदा भागदौड़ की जिंदगी में युवाओं में आ रही शीघ्रपतन की बीमारी के इलाज में भी अश्वगंधा का विशेष तौर पर इस्तेमाल होता है।

    अश्वगंधा का उपयोग और लाभ – Ashwagandha benefits in hindi – Ashwagandha ke fayde




    कामोत्तेजना बढ़ाए, नपुंसकता भगाए

    अश्वगंधा (Indian ginseng) कामोत्तेजना को बढ़ाने और पुरुषों में नपुंसकता को दूर करने में बहुत फायेदंमद है। आयुर्वेद में यौन शक्ति बढ़ाने और पुष्टि-बलवर्धन की रामबाण दवा कोई नहीं बल्कि अश्वगंधा ही है। 15 दिनों तक दूध, घी या पानी के साथ अश्वगंधा का चूर्ण लेने से शरीर को ताकत मिलती है। पुरुषों के वीर्य को पुष्ट बनाकर वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में भी मदद करता है। अश्वगंधा बिना साइड इफेक्ट शरीर में कामोत्तेजना बढ़ाता है। साथ ही यह एजींग यानि शरीर पर बढ़ती उम्र के प्रभाव को रोकने का भी काम करता है। यह पुरुषों की प्रजनन क्षमता भी बढ़ाता है।

    तनाव करे दूर – Ashwagandha reduces tension (Tanav dur kare)

    आजकल की फास्ट लाइफ में हर कोई डिप्रेशन और तनाव का शिकार है। अश्वगंधा (Indian ginseng ) शारीरिक और मानसिक तनाव और डिप्रेशन को दूर करने में कारगर है। अश्वगंधा (Withania somnifera ) का चूर्ण भोजन के साथ खाने से अवसाद और तनाव दूर होते हैं। साथ ही यह हमारी स्मरण शक्ति को बढ़ाने और चित्त को शांत रखने का भी काम करता है। ऐसे में यह स्कूली छात्रों और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में लगे युवाओं के लिए भी फायदेमंद है। वहीं बुजुर्गों में पार्किंसन नामक बीमारी, जिसमें हाथ-पैर या शरीर में कंपन रहता है, को भी ठीक करने में यह उपयोगी है।

    डायबिटीज (Diabates – शुगर) घटाए

    अश्वगंधा (Indian ginseng ) का सेवन शरीर में ब्लड शुगर का स्तर कम कर मधुमेह की बीमारी को नियंत्रण में रखता है। इसका चूर्ण कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी शरीर में कम करता है। वहीं, अश्वगंधा का सेवन गठिया की रोकथाम में भी लाभकारी है।

    हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure)

    अश्वगंधा (Indian ginseng ) का नियमित सेवन रक्तचाप में कमी लाता है। ऐसे में कम रक्तचाप वाले व्यक्तियों को इसका सेवन न करने की सलाह है।

    कैंसर ठीक करने का दावा

    कुछ शोध दावा कर रहे हैं कि अश्वगंधा (Withania somnifera) की जड़ में कैंसर के ट्यूमर की वृद्धि को रोकने की पर्याप्त क्षमता है। इन शोधों में यह बात सामने आई है कि इसकी जड़ में अल्कोहल के गुण हैं जो शरीर पर कोई टॉक्सिन नहीं छोड़ते और ट्यूमर की ग्रोथ रोकते हैं।




    पेट के विकार दूर भगाए

    अश्वगंधा (Ashwagandha) शरीर के वात रोगों को खत्म करता है। तीन भाग मिश्री और एक भाग सोंठ दो भाग अश्वगंधा चूर्ण के अनुपात में मिलाकर सुबह-शाम खाने के बाद गर्म पानी के साथ लें। यह वात, गैस और पेट की बीमारियों को दूर करेगा।

    खांसी और दमा में भी कारगर

    खांसी और दमा ठभ्क करने में अश्वगंधा (Ashwagandha) एक रामबाण औषधि की तरह काम करता है। इसका चूर्ण गर्म दूध के साथ खाने से खांसी और अस्थमा ठीक करने में काफी लाभदायक है।

    अनिद्रा दूर भगाए

    ऐसे लोग जिन्हें गहरी नींद नहीं आती या बिल्कुल ही नींद नहीं आने से परेशान हैं, उन्हें अश्वगंधा का खीर पाक बनाकर खाना चाहिए। अश्वगंधा स्वाभाविक नींद लाने की दवा की तरह भी काम करता है।

    स्त्री रोगों में कारगर

    स्त्रियों में श्वेत प्रदर यानि ल्यूकोरिया दूर करने के लिए में अश्वगंधा (Ashwagandha) का चूर्ण दो ग्राम 1/2 ग्राम वंश लोचन मिलाकर सेवन करें। अल्प विकसित स्तनों के विकास के लिए शतावरी चूर्ण के साथ अश्वगंधा का सेवन सुंदर और सुडौल स्तन उभारता है।

    आंखों की रोशनी बढ़ाए

    अश्वगंधा, मुलहठी और आंवला को समान मात्रा मिलाकर पीसें। इस चूर्ण को रोजाना एक चम्मच खाने से आंखों की रोशनी बढ़ जाएगी।

    One thought on “अश्वगंधा – एक चमत्कारी औषधि ( Ashwagandha Benefits)”

    1. होमोपैथी दवा मैं ले रहा हु क्या मैं अशवगन्धा ले सकता हु

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *